Menu
emblem

परिचय

Dr. Sudhir Kumar
Scientist-G & Head
Hydrological Investigations Division
National Institute of Hydrology
Roorkee – 247667 (Uttarakhand), India
Ph: 01332-249212, 249308
Fax: 01332-275969, Email: skumar.nihr@gov.in

प्रभाग के बारे में :

जलविज्ञानीय अन्वेषण प्रभाग उन्नत समस्थानिक तकनीकों, भू-भौतिकी एवं जलविज्ञानीय तकनीकों के प्रयोग द्वारा क्षेत्राीय एवं प्रयोगशाला आधरित अध्ययनों का संचालन कर रहा है।
प्रभाग के शोध् कार्यों में शामिल हैंः (i) झरना प्रबंधन, (ii) झील एवं जलाशयों का अध्ययन,
(iii) खनन क्षेत्रों में जल प्रबंधन, (iv) गहरे जलभृतों की गतिकी, (v) भूजल प्रबंधन, (vi) विभिन्न आंकड़ों के मापन के लिए आधुनिक प्रौद्योगिकी का विकास/कार्यान्वयन। इस प्रभाग में दो प्रयोगशालाएं कार्य कर रही हैंः (i) नाभिकीय जलविज्ञान प्रयोगशाला तथा (ii) जलविज्ञानीय मापयंत्राण प्रयोगशाला। नाभिकीय जलविज्ञान प्रयोगशाला में भिन्न-भिन्न प्रकार के रेडियो एक्टिव एवं स्थिर समस्थानिकों के मापन की सुविधएं उपलब्ध हैं तथा जलविज्ञानीय मापयंत्राण प्रयोगशाला में विभिन्न प्रकार के जलमौसम विज्ञानीय प्राचलों को प्रदर्शित करने एवं मापन के लिए स्टेट-ऑफ-द-आर्ट जल मौसम विज्ञानीय उपकरण उपलब्ध हैं।

वर्तमान अनुसंधन एवं विकास कार्यः इस प्रभाग की वर्तमान गतिविधियों में शामिल हैं:
(i) इंडो-गंगेटिक बेसिन के गहरे जलभृतों में भूजल गतिकी को समझना (ii) तटीय क्षेत्रों में समुद्र जल-भूजल अंतःक्रिया (iii) न्यून प्रवाह अवधि के दौरान नदियों में बेस फ्रलो योगदान (iv) समस्थानिकों के प्रयोग द्वारा सतही-जल तथा भूजल अंतःक्रिया (v) नदी अपवाह से हिमगलन, हिमनद गलन, वर्षा वाह तथा बेस फ्रलो का पृथक्कीकरण (vi) पर्वतीय क्षेत्रों में झरनों के पुनर्भरण क्षेत्रों का अभिनिर्धरण (vii) झील जलविज्ञान, और (viii) जल-भूगर्भीय अन्वेषण। अनुसंधन एवं विकास अध्ययनों के अलावा यह प्रभाग झीलों का संरक्षण एवं प्रबंधन, गहरे जलभृतों में भूजल गतिकी, अतिदोहित जलभृत तंत्रों की अविरतता, बेसफ्रलो का निर्धरण एवं जलगुणवत्ता पर इसका प्रभाव, खदानों के डिवाटरिंग के जल भूगर्भीय अध्ययन, बांधें/नहरों से रिसाव/टपकन की स्थिति एवं स्रोत का अभिनिर्धारण तथा जल भूगर्भीय अन्वेषणों आदि से जुड़ी कई प्रायोजित एवं परामर्शदात्राी परियोजनाओं पर कार्य कर रहा है।

अन्य संस्थानों के साथ पारस्परिक संबंध: वर्तमान में यह प्रभाग अन्तर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (IAEA) ऑस्ट्रिया, अन्तर्राष्ट्रीय जल प्रबंधन संस्थान (IWMI) तथा वन एवं मृदा संरक्षण (डी.ओ.एपफ.एस.सी.) विभाग, नेपाल के साथ कार्य कर रहा है। यह संस्थान सी.जी.डब्ल्यू.बी., एन.सी.ई.एस.एस. (त्रिवेन्द्रम) जी.बी.पी.एन.आई.एच.ई.एस.डी. (अल्मोड़ा) , डी.यू., एन.टी.पी.सी., वाप्कोस, उ.प्र. भूजल विभाग, उ.प्र. राज्य विधुत उत्पादन निगम लिमिटेड तथा सी.डब्ल्यू.आर.डी.एम. (कोझिकोड) आदि के साथ भी मिलकर काम कर रहा है।